February 22, 2024

_

बरोदियाकलां के नगर परिषद बनने से विकास के रास्ते खुले – श्रीमती सरोज सिंह

_

बरोदियाकलां नगर परिषद बनने से यहां के वार्डों में लगातार विकास कार्य कराए जा रहे हैं। निरंतर सड़कों का निर्माण भी किया जा रहा है, जिससे क्षेत्र में आवागमन सुगम हुआ है। कई स्थानों पर सड़कों के निर्माण का कार्य तेजी से चल रहे है। जिन स्थानों पर सड़क बनाने की आवश्यकता है, नागरिक बताएं शीघ्र वहां भी सड़क बना दी जाएगी, क्योंकि अच्छी सड़कें विकास का मुख्य आधार होतीं हैं। यह बात सोमवार को जिला पंचायत सागर की पूर्व उपाध्यक्ष श्रीमती सरोज सिंह ने बरोदियाकलां के 3 वार्डों में आयोजित विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमिपूजन समारोह को संबोधित करते हुए कही।

श्रीमती सरोज सिंह ने बरोदियाकलां के वार्ड क्रमांक 5 (सिमरिया) में 42 लाख की लागत से बनी सड़क व नाली का लोकार्पण, 20 लाख रूपए लागत के सड़क व नाली निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। नगर परिषद बनने के बाद बरोदियाकलां के आसपास के कई ग्रामों को वार्ड बनाया गया, जिससे यहां विकास के रास्ते खुले हैं। नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह द्वारा किए गए प्रयासों से यह सब संभव हुआ है।

इसके बाद श्रीमती सरोज सिंह ने वार्ड क्रमांक 11 (खैरा) में 23 लाख रूपए लागत से बने सीसी रोड का लोकापर्ण व 40 लाख लागत के सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एक ओर जहां मंत्री श्री सिंह के प्रयासों से सड़कों और नालियों का निर्माण किया जा रहा है, वहीं सड़कों पर अंधेरा दूर करने जगह-जगह स्ट्रीट लाईट और चौराहों पर हाई मास्ट लाईट लगाई जा रहीं हैं।

श्रीमती सरोज सिंह ने बरोदियाकलां के वार्ड क्रमांक 13 (तिगराखुर्द) में 20 लाख रूपए की लागत के सड़क व नाली निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर श्रीमती सरोज सिंह ने सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी देकर उपस्थित लोगों से योजनाओं का लाभ लेने का आग्रह किया।

श्रीमती सरोज सिंह ने वार्ड क्रमांक 13 (हनौता) में 20 लाख की लागत से सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सभी पात्र बहनें मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना का लाभ लें। इस योजना में प्रत्येक माह हर बहन के खाते में एक हजार रूपए डाले जाएंगे। उन्होंने मंत्री श्री सिंह द्वारा कराए गए विकास कार्यों की विस्तृत जानकारी दी।

इस अवसर पर रामसखी आदिवासी पार्षद, राधारानी आदिवासी, चंदा आदिवासी, सरस्वती आदिवासी, राजबाई आदिवासी, श्रीमती राधारानी, श्रीमती सावित्री, श्रीमती संजारानी सहित स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *