December 4, 2022

जनसहयोग के लिए खाता नंबर जारी, अब तक 63 लाख की राशि जुटी

नगरीय विकास विभाग ने 2 करोड़ स्वीकृत किए

सागर। देश में डाॅ. सर हरीसिंह गौर से बड़ा दानी नहीं हुआ। उनके योगदान को युवा पीढ़ी तक पहुंचाना हमारा नैतिक दायित्व है। इस आयोजन के लिए नगरीय विकास विभाग ने 2 करोड़ रु स्वीकृत किए हैं। सागर गौरव दिवस का पूरा खर्च मध्यप्रदेश सरकार भी उठा सकती है लेकिन इस गैर राजनैतिक उत्सव को हम सागर की जनता का उत्सव बनाना चाहते हैं। इसके लिए आवश्यक है कि सभी को अपनी स्वेच्छा अनुसार जन सहयोग का अवसर मिले। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने आगामी 26 नवंबर गौर जयंती पर सागर गौरव दिवस के विराट आयोजन के लिए बुलाई गई तैयारी बैठक को सम्बोधित करते हुए यह विचार रखे। बैठक में आए नगर के गणमान्य नागरिकों और जिले भर की संस्थाओं ने इस भावनात्मक आयोजन के लिए जनसहयोग के रूप में 42 लाख रुपए से अधिक की धनराशि एकत्रित की।

मंत्री श्री सिंह ने कलेक्टर सभाकक्ष में बड़ी संख्या में आए सभी वर्गों के प्रतिनिधियों से कहा कि इस आयोजन में देश भर से ऐसे सभी प्रभावशाली व्यक्तित्वों को बुलाया जा रहा है जो डाॅ. गौर साहब के सागर विश्वविद्यालय से पढ़ कर निकले और आज देश में ख्याति प्राप्त कर चुके हैं और उच्च पदों तक पहुंचे हैं। इन सभी सागर के गौरवों को समारोह में सम्मानित किया जाएगा। मंत्री श्री सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जी स्वयं भी सागर विश्वविद्यालय के दर्शनशास्त्र विभाग से पोस्टग्रेजुएट होकर निकले हैं इसलिए वे छात्र जीवन से ही डाॅ. गौर साहब के विषय में पूरी जानकारी रखते हैं। मुख्यमंत्री जी की उत्कट इच्छा थी कि डाॅ. गौर की जयंती को ही सागर गौरव दिवस के रूप में भव्यता से मनाने की परंपरा डाली जाए। इस आयोजन में शामिल होने मुख्यमंत्री अपनी तमाम व्यस्तताओं को छोड़ कर सागर आ रहे हैं और तीन घंटे से ज्यादा समय वे आयोजन में रहेंगे।

मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि सागर जिले की विकास के लिए तीन सागर के गौरव हैं जिनका सम्मान हम सभी को हमेशा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सागर के तीन गौरव में सर्वप्रथम डाॅ. सर हरीसिंह गौर हैं जिन्होंने अपना सर्वस्व दान करके शिक्षा का मंदिर स्थापित किया। वहीं दया की दृष्टि से लाखा बंजारा हैं जिन्होंने सब कुछ त्याग करके सागर को लाखा बंजारा झील दी। इसी कड़ी में विकास की दृष्टि की बात की जाए तो पूर्व कलेक्टर श्री बीआर नायडू हैं जिन्होंने ना केवल लाखा बंजारा झील का जीर्णोद्धार किया। जिन्होंने सागर की जनता को हमेशा के लिए पेयजल संकट से उबारने के लिए सागर की जीवन रेखा के स्वरूप राजघाट का निर्माण कराया।

मंत्री श्री सिंह ने तीन दिवसीय कार्यक्रमों की रूपरेखा से उपस्थित सभासदों को अवगत कराया और बताया कि तीनबत्ती पर डा गौर साहब की प्रतिमा पर मंच होगा और कटरा पुलिस चौकी तक कुर्सियों पर बैठक व्यवस्था रहेगी। बीच में कई स्थानों पर एलईडी स्क्रीनों पर भी आयोजन को देखा जा सकेगा। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि पूरी आयोजन समिति सागर के नागरिकों से अपील करती है कि सभी अपने परिवारों सहित कार्यक्रम में पधारें और सांस्कृतिक संध्या का आनंद लें। चूंकि डाॅ. गौर साहब के ऋणी प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से सागर का हर एक परिवार है, ऐसे महान दानी की जयंती के गौरव दिवस पर सभी सागर वासी अपने घरों में सजावट करें, रंगोली सजाएं दीपोत्सव मनाएं और इस दिवस को सागर की दीवाली का रूप दे दें। मंत्री श्री सिंह ने जानकारी दी कि दतिया का गौरव दिवस मां पीतांबरा के नाम पर मनाया गया था उस समारोह में 5 लाख लोगों ने हिस्सा लिया। हम सागर वासियों को भी ऐसा ही उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए।

                   

बैठक को संबोधित करते हुए विधायक शैलेन्द्र जैन ने कहा कि सागर गौरव दिवस के समारोह को जन जन का कार्यक्रम बनाना है, इस आयोजन को सागर नगर की सांस्कृतिक परंपरा का हिस्सा बनाना है। महापौर प्रतिनिधि डाॅ. सुशील तिवारी ने कहा कि बुंदेलखंड की किस्मत लिखने वाले हमारे डाॅ. गौर बब्बा की जयंती को अभूतपूर्व रूप से मनाने की व्यापक तैयारियां जोरों पर हैं। समापन पर आभार विधायक प्रदीप लारिया ने व्यक्त किया। बैठक में सांसद राजबहादुर सिंह और कलेक्टर दीपक आर्य, सभी विभागों के अधिकारी एवं शहर के गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।

42 लाख की सहयोग राशि और आई, अब तक कुल 63 लाख एकत्रित

बैठक के दौरान आयोजन समिति के समन्वयक नगरनिगम आयुक्त चंद्रशेखर शुक्ला ने आयोजन में सहयोग राशि जमा कराने के इच्छुक लोगों के लिए सागर कलेक्ट्रेट में बनाई गई सहभागिता एवं विकास समिति का एकाउंट नंबर जारी किया जो इस प्रकार है। बैंक ऑफ इंडिया का खाता क्रमांक (94241021000046/आईएफएससी कोड- बी.के.आई.डी. 0009424)

   

आयोजन समिति की बैठक के दौरान आज पुनः विभिन्न संस्थाओं व व्यक्तियों ने सहयोग राशि देने की पहल की। रविवार को 42 लाख से अधिक राशि एकत्रित हुई जबकि पिछली बैठक में 21 लाख रुपए की धनराशि एकत्रित हुई थी। अनिरुद्ध पिंपलापुरे ने श्रीमती मीना ताई पिंपलापुरे की ओर से घोषणानुरूप तीन लाख रुपए का चेक खाते में जमा कराया। आज सहयोग राशि की घोषणा करने वालों में -संतोष पांडे 1.21 लाख रू, क्रेशर एसोसिएशन से श्री चावला 1 लाख रू, साहिल जैन सुनील सतभैया 51 हजार रू, डाॅ.जी एस चौबे ने आईएमए व सागर नर्सिग होम एसोसिएशन की ओर से 1.21 लाख रू, गजेंद्र सिंह राठौर 1.51 लाख रू, मध्यभारत एग्रो प्रोडक्ट बंडा 5.51 लाख रू, आर के अग्रवाल पेट्रोलपंप एसोसिएशन की ओर से 2.51 लाख रू. सतीष साहू 5 लाख रू, अजय श्रीवास्तव 5 लाख रू, रामसिंह बुंदेला 51 हजार, ब्रज जायसवाल दीपक मेमो स्कूल 1.51 लाख रू, लोहा व्यापारी संघ की ओर से आनंद स्टील 2.51 लाख रू, टिम्बर एसोसिएशन सागर 1.51 लाख रू, भारत ओमान रिफाईनेरीस लिमि. 10 लाख रू, जे पी पावर प्लांट बीना 5 लाख रु, जिला औषधि विक्रेता संघ 1 लाख रू., अरविंद जैन हिना 1 लाख रू का जनसहयोग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *