December 4, 2022

26 नवंबर को प्लेबैक सिंगर उदित नारायण की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां होंगी

सागर गौरव दिवस के दायित्वों के लिए भाजपा पार्षद दल की बैठक हुई

सागर। सभी पार्षद अपने वार्डों में 26 नवंबर सागर गौरव दिवस आयोजन की समिति बना कर गणमान्य नागरिकों को समिति से जोड़ें। आज से ही आमंत्रण पत्र और पीले चावल लेकर वार्ड में घर-घर दस्तक देकर सागर वासियों को कार्यक्रम में आने के लिए निमंत्रण दें। साथ ही अपने घरों में 25 व 26 नबंवर की शाम से ही दीपोत्सव, रंगोली और सीरीज आदि लगा कर सजावट करने की अपील करें। यह मार्गदर्शन देते हुए नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने भाजपा कार्यालय में आयोजित भाजपा पार्षद दल की बैठक में जानकारी दी कि 26 नवंबर के मुख्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्य अतिथि होंगे और विविध कार्यक्रमों के अलावा बालीवुड के प्रसिद्ध प्लेबैक सिंगर उदित नारायण और उनकी आर्केस्ट्रा टीम अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां करेगी।

मंत्री श्री सिंह ने भाजपा पार्षद दल और बड़ी संख्या में उपस्थित भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सभी पार्षदों को एक-एक हजार आमंत्रण पत्र वार्ड में वितरण के लिए दिए गए हैं। आमंत्रण पत्रों में डाॅ. गौर साहब का जीवन वृत और योगदान का विवरण भी प्रकाशित है ताकि आज की पीढ़ी जान सके कि आधुनिक युग में देश का सबसे बड़ा दानी महान आत्मा ने सागर में जन्म लिया था। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की स्थापना में महामना पं मदनमोहन मालवीय ने देश भर से सहयोग लिया था लेकिन डाॅ. हरी सिंह गौर ने तो सन् 1946 में सिर्फ अपनी कमाई हुई संपत्ति और विद्वत्ता से सागर में यूनीवर्सिटी बना कर ऐसी संस्था खड़ी की जिसकी तुलना के संस्थान पांच छह ही थे। वे चाहते तो नागपुर, दिल्ली में भी यूनिवर्सिटी बना सकते थे लेकिन उन्होंने इस गरीब पिछड़े बीड़ी मजदूरों के इलाके बुंदेलखंड के सागर को चुना क्योंकि उन्हें अपनी जन्मभूमि के प्रति कर्तव्य बोध का अहसास था। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि अपनी जन्मभूमि, कर्मभूमि, अन्नपूर्णा भूमि के प्रति कृतज्ञता का भाव जागृत करने के लिए ही सागर गौरव दिवस का आयोजन हो रहा है।

गौरव दिवस के मुख्य कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए मंत्री श्री सिंह ने पार्षदों को बताया कि मुख्यमंत्री जी ने डाॅ. गौर की जयंती पर आयोजित सागर गौरव दिवस कार्यक्रम को एतिहासिक बनाने की इच्छा जताई है और वे स्वयं इस आयोजन में तीन घंटे से अधिक रुकेंगे। उनके समक्ष भी उदित नारायण जी और पद्मश्री रामसहाय पांडे जी की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां होंगी।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री जी का निर्देश हैं कि डाॅ. गौर की जयंती पर आयोजित सागर गौरव दिवस के समारोह गैर राजनैतिक हैं इसलिए सभी दलों और विचारधाराओं के लोगों की सहभागिता रहे। मंच पर भी सर्वदलीय लोग उपस्थित रहेंगे। वार्डों की आयोजन समितियों में भी सभी दलों के लोग शामिल हों। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मुख्य आयोजन समिति में कांग्रेस के लोगों को भी रखा गया था। उनमें से सिर्फ एक दो लोग ही बैठकों में आए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस व अन्य सभी दलों के प्रतिनिधियों को इस आयोजन के लिए बड़ा हृदय दिखाना चाहिए क्योंकि अराजनैतिक आयोजन की यह परंपरा सदैव के लिए डाली जा रही है।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सभी पार्षद अपनी आयोजन समितियों के नेतृत्व में हर वार्ड से पगड़ियां लगा कर, अखाड़ों और गाजे बाजे के साथ डाॅ. गौर का उत्सव मनाने हुए जत्थों के रूप में तीनबत्ती स्थित मुख्य कार्यालय आएं। वहां तीनबत्ती से पुलिस चैकी तक कुर्सियों की पर्याप्त बैठक व्यवस्था रहेगी। बीच बीच में बड़ी एवं एल ई डी स्क्रीन्स लगाई जा रही हैं ताकि प्रत्येक दर्शक को मंच की गतिविधियां स्पष्ट रूप से दिखाई दे सकें। मुख्यमंत्री जी और सभी अतिथियों द्वारा तीन बत्ती पर डाॅ. गौर साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ ही भव्य आतिशबाजी के प्रदर्शन के साथ समारोह आरंभ हो जाएगा। मुख्यमंत्री जी सागर विश्वविद्यालय से पढ़ कर देश विदेश में ऊंचाइयां छूने वाले पूर्व छात्रों का अभिनंदन कर सम्मानित करेंगे। उद्बोधन के पश्चात सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आनंद लेंगे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद राजबहादुर सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम के मंच पर सागर वासियों को वह मौका भी मिल रहा है जब हम डाॅ. गौर के प्रति पूरे नगर की श्रद्धा और समर्पण दिखा कर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह सिंह जी के समक्ष यह मांग रख सकते हैं कि वे डा गौर को भारत रत्न देने और मकरोनिया ओवर ब्रिज का नाम डाॅ. हरी सिंह गौर के नाम पर करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और भारत सरकार के समक्ष सरकार के स्तर पर प्रस्ताव रखें।

विधायक शैलेन्द्र जैन ने पार्षदों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी को जिम्मेवारी, जागरण के साथ सचेत होकर सागर गौरव दिवस के इस नारे और अनुपम आयोजन को भव्य और दिव्य रूप से मनाना है। सागर विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष डाॅ. सुशील तिवारी ने कहा कि यह सागर के पितृपुरूष डाॅ. हरी सिंह गौर की जयंती का आयोजन है। यह राजनैतिक नहीं है बल्कि जनता का उत्सव है। हमें इसका जो भी दायित्व मिलेगा उसे मनोयोग से पूरा करना है। भाजपा जिलाध्यक्ष गौरव सिरोठिया ने अपने संबोधन में सभी राजनैतिक दलों से अपील की है कि डाॅ. गौर जयंती पर सागर गौरव दिवस की यह पहल अराजनैतिक है, मैं सभी राजनैतिक दलों से आग्रह करता हूं कि भाजपा की तरह सभी दल इस आयोजन में शामिल होने इसी तरह की जोर शोर से तैयारियां करें।
बैठक में सभी भाजपा पार्षद, महापौर श्रीमती संगीता सुशील तिवारी, जिला पंचायत सभापति हीरा सिंह राजपूत, निगम परिषद अध्यक्ष वृंदावन अहिरवार, पूर्व छात्र नेता डाॅ. प्रदीप पाठक, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष शैलेन्द्र ठाकुर, विनोद तिवारी, नरेश यादव, पूर्व महापौर अभय दरे, जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती संध्या भार्गव, डाॅ. वीरेंद्र पाठक, डॉ. सुखदेव मिश्रा,नेवी जैन, हरिराम सिंह, अनुराग प्यासी, देवेन्द्र फुसकेले, श्रीमती शैलबाला सुन्दरता, प्रतिभा चौबे, इंदू चैधरी, सुषमा यादव, मनोरमा उपाध्याय, लक्ष्मण सिंह, जगन्नाथ गुरैया, मनीष चौबे, यश अग्रवाल, सुषमा यादव सहित बड़ी संख्या में भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ता शामिल रहीं।

          

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *