February 22, 2024

_

विकास पर्व अंतर्गत मालथौन के विभिन्न ग्रामों में

2 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों का भूमिपूजन, लोकार्पण

_

जिला पंचायत सागर की पूर्व उपाध्यक्ष श्रीमती सरोज सिंह ने मंगलवार को मालथौन विकासखण्ड के चार ग्रामों में विकास पर्व अंतर्गत निर्माण एवं विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया।

उन्होंने ग्राम पंचायत झौलसी के ग्राम डबूसा में 12 लाख लागत के सामुदायिक भवन, बाण्ड्रीवाल एवं गेट के निर्माण कार्य, 6.76 लाख लागत के नाला पर स्टापडेम का निर्माण, 3.70 लाख लागत के निर्मल नीर कूप व 3 लाख रूपए लागत के सीसी रोड का भूमिपूजन किया। इस प्रकार कुल 25.46 लाख लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन श्रीमती सरोज सिंह ने ग्राम डबूसा में किया। ग्राम पंचायत दुगाहाखुर्द के ग्राम पतराज में 1 लाख के मंदिर जीर्णोद्धार, ग्राम पंचायत गीधा के ग्राम अड़ुआ में 3.31 लाख के सीसी रोड निर्माण, 74.08 अड़ुआ से पलौओ में प्रधामंत्री सड़क योजनांतर्गत 2.16 कि.मी. लम्बे डामरीकरण कार्य, 69.08 लाख लागत के अड़ुआ से दुगाहा 2.24 लम्बे मार्ग के डामरीकरण कार्य और 3.26 लाख लागत से तालाब विस्तारीकरण कार्य का भूमिपूजन किया। श्रीमती सरोज सिंह ने ग्राम पंचायत गोदू विजयपुरा के ग्राम पलौआ में भी अनेक विकास कार्यों के भूमिपूजन किए।

उन्होंने बताया कि सागर में 100 करोड़ की लागत से संत शिरोमणि रविदास जी महाराज का बहुत बड़ा मंदिर बनने जा रहा है। श्रीमती सरोज सिंह ने कहा कि विकास पर्व के अंतर्गत विकास यात्रा का शुभारंभ हो चुका है जिसका समापन 12 अगस्त को होगा। उन्होंने कहा कि आज लाड़ली बहना योजना के दूसरे फेस का शुभारंभ हो चुका है। इसमें 21 वर्ष की आयु वाली बहनें भी अब आवेदन कर इस महात्वाकांक्षी योजना का लाभ ले सकतीं हैं। अधिक से अधिक बहनों को इस योजना का लाभ मिल सके। यही राज्य सरकार की मंषा है।

उन्होंने कहा कि पहले इस योजना में 23 वर्ष से 60 वर्ष आयु तक की महिलाओं को योजना में 1 हजार रूपए प्रतिमाह का लाभ मिलता था। परंतु मुख्यमंत्री के प्रयासों से इसकी आयु सीमा 21 वर्ष से 60 वर्ष कर दी गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश शासन की इस योजना में जाति का कोई बंधन नहीं है, सभी वर्ग से आने वाली बहनें इसमें आवेदन कर योजना का लाभ ले सकतीं हैं।

श्रीमती सरोज सिंह ने कहा कि योजना में मिलने वाली राशि से बहनें अपने बच्चों की अच्छी परवरिश, उनकी अच्छी पढ़ाई, स्वयं के खर्चों के लिए और परिवार में सहयोग कर इस राशि का सद्उपयोग कर सकतीं हैं। योजना में ऐसी कोई शर्त नहीं है कि घर में एक व्यक्ति को ही लाभ मिले अगर घर में चार पात्र महिलाएं हैं तो उन सभी चार महिलाओं को योजना का लाभ मिलेगा।

उन्होंने कहा कि मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह का प्रयास है कि क्षेत्र में सभी का पक्का आवास हो, अधिकतम लोगों को प्रधानमंत्री आवास का लाभ मिल चुका है, जो रह गए हैं उनके लिए भी मंत्री श्री सिंह प्रयास कर रहे हैं और जल्द ही उन्हें भी प्रधानमंत्री आवास दिया जाएगा। श्रीमती सरोज सिंह ने आयुष्मान कार्ड में पांच लाख तक के स्वास्थ्य लाभ, संबल योजना में मिलने वाली सहायता राशि की विस्तृत जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *