September 28, 2022

जो क्षमा करते हैं, वे वीर नहीं महावीर हैंः मंत्री भूपेन्द्र सिंह

 सागर। सकल जैन समाज द्वारा आयोजित सामूहिक क्षमापना महोत्सव में मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि जो क्षमा करते हैं, वे वीर नहीं महावीर हैं। धर्म साधना की प्रक्रिया में क्षमा का महत्व स्थापन भगवान महावीर की महान देन हैं। कहा गया है कि ’क्षमा वीरस्य भूषणम्’ अर्थात क्षमा वीरों का आभूषण है। 

 जैन हाई स्कूल प्रांगण में आयोजित सामूहिक क्षमापना महोत्सव में मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मुनि श्री विरंजन सागर जी महाराज और आर्यिका रत्न दृढ़मति माता जी तथा उनके संघ में विराजित मुनि व आर्यिकाओं के चरणों में नमन करते हुए कहा कि उनके किसी व्यवहार से यदि किसी को कष्ट पहुंचा हो तो हाथ जोड़कर उससे क्षमा मांगता हूं। उन्होंने कहा कि जीवन में अभिमान हमें क्षमा मांगने और क्षमा करने से रोकता है। लेकिन हमें स्मरण रखना चाहिए कि अभिमानी की सदैव दुर्दशा होती है। रावण, कौरव, कंस सभी का अभिमान टूट गया। महाभारत में प्रसंग है कि भगवान श्रीकृष्ण ने शिशुपाल को सौ बार क्षमा किया था लेकिन उसके अभिमान के कारण 101वीं बार गलती करने पर भगवान श्रीकृष्ण ने उसका वध किया था। 

 मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि क्षमा मांगने और क्षमा करने से हमारे जीवन में सरलता आती है, माधुर्य आता है। क्षमा का भाव जीवन में आने से हम धर्म के योग्य बनते हैं। क्षमा, दया और करूणा के बिना मनुष्य अपूर्ण है। हमारी अराधना और प्रार्थना का आरंभ भी तभी होता है, जब हृदय क्षमा के भाव से भरा हो। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि क्षमा पर्व मनाते समय अपने मन में छोटे-बड़े का भेदभाव न रखते हुए सभी से क्षमा मांगना इस पर्व का उद्देश्य है। आज देश और दुनिया में जो शांति है, उसका श्रेय जैन धर्म को जाता है। क्योंकि जैन धर्म हम सबको सत्य और अहिंसा का मार्ग दिखाता है। 

 मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि वे विधायक श्री शैलेन्द्र जैन के इस प्रस्ताव का समर्थन करते हैं कि विश्व क्षमा दिवस होना चाहिए। इसके लिए हम सब मिलकर प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि आज देश और मध्यप्रदेश की सरकार पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महराज के आशीर्वाद से चल रही है। इसलिए विश्वास है कि देश भर में तो क्षमा दिवस मनाया ही जाना आरंभ हो ही जाएगा। 

 मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शैलेन्द्र जैन के रूप में सागर की जनता ने एक ऐसा विधायक चुना है, जो सागर के विकास के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं। सागर में विकास के जो काम चल रहे हैं, विश्वास है कि वे एक साल में पूरे हो जाएंगे। और हम सबको एक नया सागर देखने को मिलेगा। उन्होंने महोत्सव में उपस्थित प्रदेश सरकार के मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा का स्वागत किया। 

 मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने श्री संधान सागर जी द्वारा लिखित दो पुस्तकों का विमोचन मंच से किया। बाहुबली कालोनी के जैन बंधुओं ने साफा पहना कर अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम को विधायक शैलेन्द्र जैन ने भी संबोधित किया। आयोजन में मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा, सांसद राजबहादुर सिंह, जिला पंचायत सभापति हीरा सिंह, महापौर श्रीमती संगीता सुशील तिवारी, जिला भाजपा अध्यक्ष गौरव सिरोठिया, निगम अध्यक्ष वृंदावन अहिरवार, सुरेश जैन, नेवी जैन, कपिल मलैया,अनिल जैन नैनधरा, अशोक जैन पिड़रुआ, देवेन्द्र फुसकेले, ऋषभ समैया, पार्षद रूपेश यादव, रानी अहिरवार, शैलेन्द्र ठाकुर, प्रदीप राधेलिया, महेश बिलहरा, अजय जैन लंबरदार, ऋषभ बांदरी, केही जैन, विनय मलैया,श्रीकांत जैन, सुभाष जैन खाद, निकेश गुप्ता, महेश जैन, सुनील जैन सहित सैंकड़ों गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.