December 4, 2022

सरदार पटेल तोरणद्वार का भूमिपूजन किया

सागर। देश के महान देशभक्तों, महापुरुषों, ऋषि मनीषियों के इतिहास को कांग्रेस ने अपने 50 साल के शासनकाल में जिस तरह मिटाने का पाप किया है, यही कारण है कि आज कांग्रेस पार्टी सड़क पर आ चुकी है और उनके नेता को सड़कों पर घूमना पड़ रहा है। यह टिप्पणी नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने यहां रजाखेड़ी बजरिया में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 147 वीं जयंती पर उनके नाम तोरणद्वार का भूमिपूजन करते हुए की है।

मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस कि देश की खंड खंड 562 रियासतों को एकसूत्र में पिरो कर विशाल भारत देश का एकीकरण करने वाले इतिहास पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के सारे योगदानों को कांग्रेस और नेहरू गांधी परिवार ने सुनियोजित रूप से मिटाने का काम किया था। परिवारवाद में डूबी कांग्रेस देश में यह स्थापित करने में जुटी रही कि देश में सब कुछ नेहरू, इंदिरा, राजीव, सोनिया, राहुल, प्रियंका और प्रियंका के बच्चों ने किया है। कांग्रेस की धारणा के अनुसार सरदार पटेल, डा आंबेडकर, पं दीनदयाल उपाध्याय, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, लालबहादुर शास्त्री, जैसे महापुरुषों का देश के लिए कोई योगदान नहीं था। इस पाप के चलते आज देश की जनता ने यह स्थिति निर्मित कर दी कि राहुल गांधी पश्चात करने सड़क पर आने को मजबूर हैं।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सरदार पटेल ने जो किया वह किसी एक बिरादरी के लिए नहीं किया सारे देश के लिए किया। महापुरुषों का कृतित्व सारे देश को समर्पित होता है किसी जाति और बिरादरी की मर्यादा में उनके योगदान को नहीं बांधा जा सकता। सरदार पटेल की जयंती हमें देश की एकता का संकल्प स्मरण कराती है। आज देश को कमजोर करने वाली विभाजनकारी ताकतें फिर सर उठाना चाहती हैं जिनके संगठन और स्लीपर सेल लगातार पकड़े जा रहे हैं।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि इन देशविरोधी ताकतों का मंसूबा सन् 2050 तक भारत देश को फिर से गुलाम बनाने का है। उनके इस षड्यंत्र को हमें नेस्तनाबूद करना है। आज इस संकल्प का दिवस है कि देश छोड़ने वाली ताकतों का हम सभी एकजुट होकर सामना करेंगे। इसके लिए हमें आज देश में “समान नागरिक संहिता” लागू करने की आवश्यकता है। देश में सभी के लिए एक कानून होना चाहिए जाति समुदाय देख कर असमानता नहीं होना चाहिए।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री बनने के साथ ही देश की सांस्कृतिक पुर्नस्थापना, परम वैभव और शक्ति संपन्नता की स्थापना का काम आरंभ कर दिया था। आज उनके नेतृत्व में देश वैभवशाली और शक्तिशाली देश बन चुका है, प्रधानमंत्री मोदी जी आज विश्व के सबसे शक्तिशाली नेता के रूप में स्वीकार किए जाते हैं। श्री सिंह ने कहा कि ब्रिटेन का प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल कहा करता था कि भारत के लोगों में दिमाग नहीं होता, आज देखिए आज एक भारतीय ऋषि सुनक ब्रिटेन का प्रधानमंत्री है और कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति हैं।

कार्यक्रम के आरंभ में मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने कार्यक्रम स्थल के समीप सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उन्होंने सरदार पटेल के नाम पर बन रहे तोरणद्वार का भूमिपूजन किया। उन्होंने समाज के माथे मुखियों का सम्मान किया। सांसद राजबहादुर सिंह ने अपने संबोधन में सरदार पटेल की धातुप्रतिमा के लिए सांसद निधि से 5 लाख रु. की घोषणा की। कार्यक्रम को विधायक प्रदीप लारिया ने भी संबोधित किया।

कार्यक्रम में महापौर प्रतिनिधि डा सुशील तिवारी, संतोष रोहित, पटेल समाज के नेता, विजय पटेल, नपा उपाध्यक्ष विजय गौतम, अध्यक्ष चुन्नी लाल पटेल, नेवी जैन, डा सुखदेव मिश्रा, नवीन भट्ट, नीलेश राय, विवेक सक्सेना, सेन समाज के नेता राजेश्वर सेन, कपिल कुशवाहा, आफीसर यादव, दिलीप नायक, राजेंद्र राजपूत, अशोक सिंह पड़रिया, महिला मोर्चा की जयंती पटेल, श्रीमती सरोज विजय पटेल, राहुल साहू, रीतेश मिश्रा, नरेन्द्र तिवारी सहित अनेक भाजपा कार्यकर्ता, कुर्मी समाज के सरपंच गण, गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *