February 22, 2024


देश का हृदय प्रदेश यानि मध्यप्रदेश। अपने आप में विशेष और अद्भुत प्रदेश जो देश का कृषि, उद्यमिता सहित विकास में महत्वपूर्ण और प्रमुख योगदानकर्ता है। ऐसे में मध्यप्रदेश के नीति निर्माताओं का काम, उनकी कार्यशैली और उन नेताओं की गुणवत्ता का विमर्श आवश्यक और महत्वपूर्ण हो जाता है। अपने यहां एक कहावत है ‘होनहार विरबान के होत चीकने पात’ जो भूपेंद्र सिंह के संदर्भ में सटीकता के साथ चरितार्थ होती है। 1982 में इनका छात्र राजनीति से राजनैतिक सफर शुरू हुआ, छात्र जीवन से ही समाज सुधार और गरीब कल्याण के कार्यों में रुचि रखने वाले भूपेंद्र सिंह को सामाजिक उत्थान में व्यापक सुधार लाने के लिए, उलझे और अनुचित पद्धतियों में परिवर्तन के लिए अव्यवस्था और कुरीतियों के खिलाफ आंदोलन, सभाएं, विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए कई बार सिस्टम से बगावत का नुकसान झेलते हुए गिरफ्तारियां भी देनी पड़ी। चालीस वर्षों की सक्रिय राजनीति में भूपेन्द्र सिंह बीस वर्षों तक विपक्ष में बैठकर भारतीय जनता पार्टी के विभिन्न दायित्वों का निर्वहन करते हुए कांग्रेस की भ्रष्टाचारी नीतियों का विरोध कर सुशासन की स्थापना का प्रयास करते रहे। 1993 में भूपेंद्र सिंह सुरखी विधानसभा क्षेत्र, सागर से पहली बार विधायक बने, अब तक चार बार के विधायक और एक बार सागर के सांसद रहे भूपेंद्र सिंह मध्यप्रदेश शासन में गृह, परिवहन, सूचना प्रौद्योगिकी और लोकसेवा प्रबंधन जैसे विभागों में मंत्री रह चुके हैं। भूपेन्द्र सिंह इन दिनों मध्यप्रदेश शासन में नगरीय विकास और आवास विभाग के मंत्री हैं।


क्षेत्र का विकास हर राजनेता का मुख्य वचन होता है, किंतु विकास के सही मायने आज़ भारतीय जनता पार्टी के नेता ने जिस प्रकार प्रदर्शित किया है, वह उल्लेखनीय और सराहनीय है। एक गरीब और पिछड़े हुए बुंदेलखंड के छोटे से कस्बे खुरई को विकास की गंगा में डुबकी लगाकर आज एक उत्तम नगर बना दिया, जहां की जनता अपने क्षेत्र में हुए चहुंमुखी विकास कार्यों से और अपने नेता से बहुत प्रसन्न है।
मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार एवं अधोसंरचनात्मक विकास सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति के अभूतपूर्व मानदंड स्थापित कर प्रदेश को कांग्रेस द्वारा थोपे गए बीमारू राज्य के कलंक से मुक्त कराते हुए, देश के अग्रणी पांच राज्यों में मध्य प्रदेश को शामिल करने में अपना सार्थक सहयोग दिया है। पिछले आठ नौ सालों में प्रदेश ने खूब तरक्की की है, देश का सबसे स्वच्छ शहर मध्यप्रदेश का इंदौर लगातार नगरीय विकास और प्रबंधन का उदाहरण अपनी स्वच्छता और प्रशासनिक प्रबंधन से दिया है।
पिछले नौ सालों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने अपने बेहतरीन काम से जो गौरव देश की जनता को दिया है वो अद्भुत है और अतुलनीय कहना भी अतिश्योक्ति नहीं है।


भूपेन्द्र सिंह सागर जिले की खुरई विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं, खुरई हाल के कुछ वर्ष पूर्व तक एक पिछड़ा हुआ कस्बा था, क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं का आभाव था किंतु भूपेन्द्र सिंह ने खुरई से विधायक बनते ही सबसे पहला काम, विकास का आधार मानी जाने वाली सड़कों का शानदार निर्माण कराया, बिजली की व्यवस्था कराई, हर गरीब के लिए पक्के घर का प्रबंध कराया, अनेक पार्कों का निर्माण कराया, छोटी-मोटी बीमारियों का प्राथमिक उपचार गांव में ही सुलभ हो इसके लिए हर गांव में स्वास्थ्य केंद्र/आरोग्य केंद्र खुलवाए। शिक्षा आज के सभ्य समाज की अनिवार्य इकाई है, ऐसे में शिक्षा की गुणवत्ता और उपलब्धता पर काम करते हुए भूपेन्द्र सिंह ने सार्थक प्रयास किया, हर गांव माध्यमिक शाला के साथ ही दो – तीन गांवों के बीच हायर सेकेण्डरी स्कूल बनाकर बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की व्यवस्था की है। खुरई में कृषि महाविद्यालय के भवन निर्माण, एक मेडिकल कॉलेज स्वीकृत करने के साथ ही खुरई के मालथौन और बांदरी तहसील में कॉलेज स्थापित कर शिक्षा की उत्तम उपलब्धता सुनिश्चित कर दी है। खुरई क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर कौशल प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना कर क्षेत्र के युवक/युवतियों को रोजगार के योग्य बना रहे हैं। केंद्र सरकार और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभ लगभग खुरई विधानसभा क्षेत्र में हर परिवार को प्राप्त हो रही है। विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं से कृषि सिंचाई की व्यवस्था की, किसान हितैषी भाजपा के नेता भूपेन्द्र सिंह भी किसानों का दर्द भी बखूबी समझते हैं, तभी तो ओला वृष्टि होने ने बर्बाद हुई फसलों की हालत देखने प्रत्येक किसान के खेत पर पहुंचे, अपने प्रतिनिधियों को भेजा और अवलोकन के पश्चात शीघ्र ही मुआवजे की राशि डायरेक्ट ‘बेनिफिट ट्रांसफर’ के माध्यम से सीधे किसानों के खातों में भिजवा दी। आज भी हमारा भारत एक विकासशील देश है, ऐसे में छोटे-मोटे व्यापारी और कारोबारियों का स्थान भी महत्वपूर्ण है। खुरई में हाट बाजार और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, बांदरी में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मालथौन में छोटी दुकानों का निर्माण कर न केवल विकास को व्यवस्थित किया है बल्कि सार्वभौमिक विकास के साथ क्षेत्र में राजनीति की अजेय पताका स्थापित कर दी है।


सरल, सहज, मृदुभाषी भूपेन्द्र सिंह पूरे खुरई क्षेत्र की जनता की अद्वितीय पसंद हैं, खुरई के एक-एक गांव से उनके लिए सराहना और अपनत्व की बातें ही सुनने को मिलती हैं। विरोधी दल भूपेंद्र सिंह पर आक्षेप आरोपित कर अपना हित साधने की कई बार कोशिशें की लेकिन सत्यमेव जयते! सारे आरोप झूठे सिद्ध होते हैं जो चुनावी लाभ के उद्देश्य से उन पर लांछित किए जाते हैं। भूपेन्द्र सिंह जितने सौम्य और सभ्य अपने क्षेत्र की जनता के लिए हैं, उतने ही ऊंचे कद के साथ वो आज मध्यप्रदेश की राजनीति में स्थापित हैं। मध्यप्रदेश आज तेजी से तरक्की की राह पर आगे बढ़ रहा है, जिसमें नगरीय विकास का मुख्य किरदार है। भूपेन्द्र सिंह ने नेतृत्व में मध्यप्रदेश कई राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त कर चुका है, इनका विधानसभा क्षेत्र खुरई भी लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए कई महत्वपूर्ण पुरस्कार प्राप्त कर मज़बूत विकास की गवाही दे रहा है। विरोधी नेताओं ने विकास ने नाम पर एक ईंट तक नहीं रखी और आज मनगढ़ंत आरोप लगाकर चुनावी लाभ प्राप्त करने की सत्तालोलुप कोशिश में लिप्त हैं, लेकिन उन्हें यह ज्ञात नहीं कि ऐसे कई झूठे आरोप और लांछन को झेलते हुए, संघर्षों की भट्ठी में तपा हुआ राजनीति का खरा सोना हैं भूपेन्द्र सिंह और सोने को कभी कीचड़ दागदार नहीं कर सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *