December 4, 2022

मालथौन में खाद वितरण डबल लाॅक केन्द्र का हुआ शुभारंभ

मालथौन। दो साल बाद हमारे खेतों में बीना परियोजना और उल्दल परियोजना के माध्यम से पानी आएगा तो खाद की मांग कई गुना बढ़ जाएगी। हम सब तो आज के बारे में सोचते हैं लेकिन मंत्री भूपेन्द्र भैया की ये सोच आज के लिए नहीं है आने वाले भविष्य के लिए है। यह बात बुधवार को मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह ने नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह के विशेष प्रयासों से मालथौन में स्वीकृत खाद वितरण डबल लाॅक केन्द्र के शुभारंभ कार्यक्रम अवसर पर कही। मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह ने बताया कि मंत्री भूपेन्द्र सिंह के विशेष प्रयासों से 1000 टन क्षमता के गोदाम निर्माण की स्वीकृति हो गई है जिसका टेंडर भी हो गया है। शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि 100 टन खाद आगामी दो दिनों में मालथौन आ जायेगी। कार्यक्रम के प्रारंभ में जिला विपणन अधिकारी राखी रघुवंशी ने कृषि उत्पादन, खाद, प्रमाणित बीज से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी उपस्थित किसान भाईयों और जनसमूह से साझा की। उन्होंने भविष्य में कृषि विभाग द्वारा प्रमाणित बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करने की बात कही।
मालथौन की पुरानी कृषि उपज मंडी परिसर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह ने कहा कि जितना बजट मंत्री भूपेन्द्र भैया ने 7 सालों में मालथौन को दिया है। उतना बजट कांग्रेस की सरकार अगर 100 साल भी होती तो नहीं दे पाती। विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा और समाज के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति के विकास की चिंता मंत्री भूपेन्द्र भैया को रहती है। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र को परिवार की तरह मानकर उनकी सेवा करते हैं। मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि हम तो आ गए भाषण देने और शुभारंभ करने, लेकिन मंत्री भूपेन्द्र भैया को इस बात की फिक्र रहती है कि हमें कैसे अपने किसान भाईयों तक खाद पहुंचाना है। हमें नहीं लगता कि ऐसी सोच कोई और नेता रखता होगा। उन्होंने कहा कि मालथौन, बरोदियाकलां बांदरी में आवास स्वीकृत होना थे। जिन हितग्राहियों को आवास मिल गए वह तो खुश हो गए। लेकिन उनको यह पता नहीं है कि कैसे मेहनत करके, दिल्ली से मंत्री भूपेन्द्र भैया ने इन आवासों को स्वीकृत कराया है।
मंत्री प्रतिनिधि ने स्वास्थ्य सुविधाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि मंत्री भूपेन्द्र भैया ने कोरोनाकाल में खुरई अस्पताल की व्यवस्थाओं को स्वयं संचालित नहीं करते तो बहुत जनहानि हो सकती थी। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में मंत्री भूपेन्द्र भैया ने खुरई में कोरोना की पस्थितियों को कंट्रोल में रखने ऑक्सीजन सिलेण्डर, फ्लो ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन कसंट्रेटर सहित अनेक आधुनिक उपकरण दिल्ली से मंगाए थे। जिनका बड़ी मुश्किल में इंतजाम हो पाया था। उन्होंने कहा कि आगामी दो साल के अंदर खुरई विधानसभा क्षेत्र मध्यप्रदेश का सबसे सम्पन्न विधानसभा क्षेत्र होगा। क्योंकि जो व्यवस्थाएं मंत्री भूपेन्द्र भैया ने कीं हैं इसका परिणाम भी दो साल बाद ही आएगा। अगर बीच में सवा साल कांग्रेस की सरकार नहीं आती तो आज हर खेत में पानी पहुंचता। कांग्रेस के शासनकाल में बीना परियोजना का काम बंद हुआ। दो साल कोरोना में बबार्द हुए नहीं तो आज यह स्थिति होती कि किसान भाईयों को बिजली की भी जरूरत नहीं पड़ती। क्योंकि पाईपलाईन द्वारा प्रेसर से पानी से उनके खेत तक पहुंचता।
इस अवसर पर जयंत सिंह बुंदेला, राखी रघुवंशी डीएमओ सागर, रावराजा लोंगर, गोविंद सिंह नेगवां, रामदयाल पाठक, राजेन्द्र सिंह लोधी, रामकुमार बघेल, सिरनाम सिंह तोमर, भरत तिवारी, पुष्पेन्द्र सिंह तोमर, बलवीर सिंह, कोमल यादव बरोदिया, आशा जैन महिला मोर्चा, रानी लोधी, मनोहर सोनी, पुष्पेन्द्र परिहार, प्रहलाद सिंह राजपूत बम्होरी, योगेश जैन, लल्लू राजा इटवा, रमेश जैन, धर्मेन्द्र अहिरवार, नीरज राजपूत किसान मोर्चा सहित क्षेत्र के गणमान्य नागरिक, भाजपा नेता कार्यकर्ता एवं आमजन उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में मनोहर कौशिक, सुनील तिवारी, निखलेश पुरी, निशांत मिश्रा, विट्ठल पटैल एवं लोकेन्द्र रावत ने मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह का पुष्पमाला से स्वागत किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *